VISA KYA HAI ? OR ISKE KITNE PRKAR HAI ? PURI JANKARI 2020 - Technical Guroo

VISA KYA HAI ? OR ISKE KITNE PRKAR HAI ? PURI JANKARI 2020

 हेलो दोस्तों कैसे है आप सब में आशा करती हु की आप सब अच्छे ही होंगे तो दोस्तों आज में आपको Visa क्या है और उसके कितने प्रकार है ? के बारे में पूरी जानकारी दूंगी ,जिस से आपको आसानी से समज में आ जाये की ये क्या है। 

दोस्तों आप में से कई सारे लोगो को इसके बारे में पूरी जानकारी होंगी लेकिन आपमें से कुछ  लोगो को इसके बारे में पता ही नहीं होगा की ये क्या है । हम में से कुछ लोग ये सोचते हे की यह वीसा क्या है ? इसकी क्या प्रोसेस होती है ये सब कुछ हमें आसानी से समज नहीं आता। 

 इसे एक एक करके समज ने की कोसिस करे तो हम बहोत आसानी से इसे समज सकते हे। तो आपका ज्यादा समय ख़राब न करते हुए और आपके समय का सदुपयोग करते हे और हम शुरू करते है। दोस्तों चलिए शुरू करते है। 

*Visa क्या है ?



दोस्तों में आपको सामान्य व्याख्या के रूप में अगर समजाना चाहु तो इसका मतलब किसी भी देश में जाने का परमिशन लेटर है जिस से आपको दूसरे देश में रहने की परमिशन मिल जाती है। दोस्तों यह बहोत ही सरल और  बहोत आसानी से याद रह जाने वाली व्याख्या है। अब में आपको उदाहरण के रूप में समजाना चाहु तो अगर हम किसी थिएटर में मूवी देखने जा रहे है। 

तो हमें उस में जाने के लिए भी तो बाहर से टिकट लेना ही होगा ना। अगर हमारे पास टिकट नहीं होगा तो थोड़ी  कोई हमें अंदर जाने देगा ,दोस्तों इसका वीसा  से कोई लेना देना नहीं हे ये मेने सिर्फ आपको उदाहरण दिया की  उसी तरह Visa में भी ऐसा ही होता है। 

हमें अगर किसी भी दूसरे देश में जाना है  पहले हमें उस देश का परमिशन लेटर लेना होगा , जिस से आप वह रह सकोगे।  इसकी फुल फॉर्म है विजिटर इंटरनेशनल स्टे एडमिशन। दोस्तों अगर आप भी किसी दूसरे देश में जाना चाहते है। 

तो आपको वीसा  की जरूरत पड़ेगी। सायद  आपको पता नहीं होगा पर दुनिया में कई ऐसे देश भी हे जिस में जाने के लिए हमें इसकी जरुरत नहीं पड़ती। .और एक ही वीसा की मदद से आप एक साथ कई देशो में भी जा सकते है ,यानि की एक वीसा की मदद से आप कई सारे देशो में जा सकते हे उस के लिये आपको अलग अलग वीसा लेने की जरुरत नहीं है। 

और इस प्रकार के वीसा  को कॉमन वीसा के नाम से जाना जाता है। पर ये कुछ देशो में ही मान्य होता है। अब हम हमारे देश की ही बात कर ले तो भारत भूटान और नेपाल के लोगो को बिना वीसा  के भी आने देता है। अब में एक और चीज़ आपको समजाता हु पर इस के लिए में उदाहरण का उपयोग करूँगा। 

जिस से आपको आसानी से और सरल भाषा में समज आ जाये। मान लीजिये  भूटान का कोई व्यक्ति किसी दूसरे देश में गया है और वो अब वह से भूटान वापस जाने के बदले भारत आना चाहता है तो वो बिना पासपोर्ट के नहीं आ सकता। इस पारिस्थिति में उस के पास पासपोर्ट होना जरुरी है। 

मतलब अगर वो सीधा भूटान से आता है तो चलेगा ,लेकिन अगर वो किसी और  हमारे देश में आ रहा हे तो उस को पुरे डाक्यूमेंट्स चाहिए होंगे। 

अब हम बात करते है की इसके कितने प्रकार होते है ?में आशा करती हु की आपको वीसा क्या है ?इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। और आपको ये समज में भी आ गई होगी। तो अब हम आगे बढ़ते है। 

*Visa के कितने प्रकार है ?कोन  कोन  से ?

दोस्तों हमने आगे देखा की ये क्या है ?और अब हम शिखेंगे की इसके कितने प्रकार है ? दोस्तों इसके 6 प्रकार है जिसे हम एक एक करके सीखेंगे। 

1. TRANSIT VISA : अगर आप घंटो के हिसाब से यानि की कुछ काम हे और आपको किसी और देश में जाना होता है लेकिन वह काम कुछ घंटो का ही हे और आप वापस आना चाहते तो यह वीसा आपको काम आएगा।यह  72 घंटो के लिए ही मान्य है। आपको इस को अप्लाई करने के लिए कन्फर्म रिटर्न टिकट भी दिखानी पड़ती है। 

2. TOURIST VISA : यह वीसा आप घूमने के लिए ही ले सकते है। मतलब अगर आप किसी देश में घूमने के लिए ही जाना चाहते हो तो आपको इस प्रकार के वीसा के लिए अप्लाई करना होता है। आप वह जाकर कोई और काम नहीं कर सकते। सऊदी अरब ने इस प्रकार के वीसा  2004 से देना शुरू किया है। हलाकि इस से पहले वो हज यात्री के लिए  तीर्थ  स्थल वीसा देते थे। 

3. BUSINESS VISA : इस प्रकार का वीसा उन लोगो को दिया जाता हे जो किसी दूसरे देश में जाके बिज़नेस करना चाहते है। पर इसके लिए उन्हे पहले बिज़नेस का प्रपोज़ल दिखना जरुरी है। पर इसके लिए उन्हें ये बताना  भी जरुरी है की वो अपना व्ययसाय कहा करेंगे ?और  इसके लिए वो पैसा कहा से लाएंगे। 

इस प्रकार के वीसा 6 महीने से लेकर के १० साल तक मान्य होते है। इस में किसी पक्की नौकरी को भी शामिल किया जा सकते है। इस के लिए अलग से वर्क वीसा भी  लिया जा सकता है । 

4.ON -ARRIVAL VISA : यह वीसा पहले से होना भी जरुरी है क्यों की आपके देश का इमिग्रेशन डिपार्टमेन्ट  फ्लाइट में बोल्ड होने से पहले ही उसे चेक करता है। भारतीय सरकार ने हाल ही में वीसा के लिए बहोत सारे बदलाव भी किए है। 

इसको E -TOURIST वीसा के नाम से जाना जाता है। भारत आने वाले टूरिस्ट अपने देश से ही इसे अप्लाई कर सकते है। 

5. STUDENT VISA : जो स्टूडेंट होता हे वही इस वीसा के  लिए अप्लाई कर सकता है। जो की दूसरे देश में जाके पढ़ना चाहता हो। इस वीसा की मन्यता इंस्टीटूशन के हिसाब से होती है। और ऐसे ही दूसरे वीसा हे जो किसी न किसी काम के लिए काम में लिए। 

 6. MARRIAGE VISA : यह एक निश्चित समय के लिए जारी किया जाता है। कोई लड़की अगर किसी अमरीकी लडके से शादी करना चाहती है , तो वो सदी  करने क लिए लड़के को भारत में बुला सकती है। इसके लिए लड़की को इंडियन एम्बसी जाकर इसके लिए अप्लाई करना होता है। 

7. IMMIGRANT VISA : यह वीसा उस कंडीशन में यानि की उस परिस्थिति में दिया जाता है जब कोई दूसरे देश में जाके बसना चाहता है। ये सिर्फ सिंगल जर्नी क लिए होता है। अगर आप पक्के हो की दूसरा देश इमीग्रेशन देने के लिए तैयार हे तभी  वीसा मिलता है। 

दोस्तों ये सभी वीसा के प्रकार है। आज के लिए बस इतना ही है। ये पूरी जानकारी सरल शब्दो में हे जिसे कोई भी आसानी से समज सकता है इसके बारे में पूरी जानकारी ले सकता है। 

//दोस्तों अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो कृपया इसे लाइक कमेंट करे और ज्यादा से ज्यादा लोगो तक शेयर जरूर करे। अगर आपको लेख में कुछ समज नहीं आया तो कृपया हमें कमेंट करके जरूर बताये। //

Previous article
Next article

Leave Comments

टिप्पणी पोस्ट करें

if you have any doubt . plz let me know